Currently browsing:- Kavita Sangrah in Hindi:




Deshbhakti Kavita in Hindi - Renuka Kapoor

आज वो दौर आ गया है – देश भक्ति कविता

आज वो दौर आ गया है आज वो दौर आ गया है शहीद भगत सिंह यह कह रहा है अगर आज इस दौर में मैं जो आता तो देख हालत, अपने देश की जागकर, मैं फिर से सो जाता (२ ) बड़ा बेफिक्र, हर इन्सां यहाँ है हाथ में लिए, पूरी दुनिया फिरा जा रहा…

Sushant Singh Rajput Poem in Hindi by Renuka Kapoor

!! सुशांत तुम शांत क्यों हुए !!

“सुशांत ” जो तुमने पवित्र रिश्ता था बनाया दर्शको का दिल जीत कर था दिखाया उस धारवाहिक में क्या खूब किरदार था निभाया I दिल को छू गया था वो साधारण सा भोला सा लड़का, जो था पटना से आया I बड़ी महानगरी मुंबई को देख कर वह भी था मुस्कुराया, अब दिल में राज…

Father's Day Special Poem in Hindi by Renuka Kapoor

पापा तुम कितने अच्छे हो!!

“पापा तुम कितने अच्छे हो किन शब्दों में करूँ तुम्हारा धन्यवाद शब्द नहीं मिल रहे मुझे शब्दों में है वाद विवाद ” आज जो मैंने सीखा है, जीवन से वह है तुम्हारा आशीर्वाद चाहे मैं कितने, सुन्दर शब्दों को चुन लू II न कर पाउगी, तुम्हारा धन्यवाद पापा तुम कितने अच्छे हो II सच कहते…

Coronavirus Motivational Poem in Hindi by Richa Pandey

Coronavirus Motivational Poem in Hindi by Richa Pandey

—–कोरोना—– हर घर में यहीं नारा है, कोरोना को हराना है। इसने कैसा चक्कर चलाया, बड़े बड़ों को घर में बैठाया, अब इसको भी भागना है, फिर से घूमने जाना है। थाली से सब्जी गायब , मुंह से पान और मावा गायब, महंगा दौर जमाना हैं, फिर से पनीर पापड़ खाना है। कोरोना को हराना…

Coronavirus Motivational Poem in Hindi by Anchal Nalwaya

यह लड़ता हिंदुस्तान है!- आंचल नलवाया

🇮🇳 यह लड़ता हिंदुस्तान है! 🇮🇳 (कोरोना) यह सड़कें यह चोराहे हर गली-गली सुनसान है, आज हवा में उड़ रहे पंछी और पिंजरे में बंद इंसान है! मत घबराओ मेरे साथियों, यह उगता हिंदुस्तान है यह बढ़ता हिंदुस्तान है यह लड़ता हिंदुस्तान है! आज ना मंदिर में ना मस्जिद में ना गुरुद्वारे में भगवान है,…

Main Umra Batana Nahi Chahti Hun Girl Poem in Hindi

मैं उम्र बताना नहीं चाहती हूँ!!

मैं उम्र बताना नहीं चाहती हूँ, जब भी यह सवाल कोई पूछता है, मैं सोच में पड़ जाती हूँ, बात यह नहीं, कि मैं, उम्र बताना नहीं चाहती हूँ, बात तो यह है, की, मैं हर उम्र के पड़ाव को, फिर से जीना चाहती हूँ, इसलिए जबाब नहीं दे पाती हूँ, मेरे हिसाब से तो…

Sister to Brother Raksha Bandhan Poem in Hindi for Bahen

रूपया पैसा कुछ ना चाहूँ..बोले मेरी राखी है!!

नहीं चाहिए मुझको हिस्सा माँ-बाबा की दौलत में, चाहे वो कुछ भी लिख जाएँ भैया मेरे! वसीयत में!! नहीं चाहिए मुझको झुमका चूड़ी पायल और कंगन, नहीं चाहिए अपनेपन की कीमत पर बेगानापन!! मुझको नश्वेर चीज़ों की दिल से कोई दरकार नहीं, संबंधों की कीमत पर कोई सुविधा स्वीकार नहीं!! माँ के सारे गहने-कपड़े तुम…

Himmat Karne Walon Ki Motivational Poem in Hindi

Himmat Karne Walon Ki Haar Nahi Hoti!!

हिम्मत करने वालो की हार नहीं होती लहरों से डर कर नैया पार नहीं होती। नन्हीं चींटी जब दाना लेकर चलती है चढ़ती दीवारों पर सौ बार फिसलती है मन का विष्वास रंगों में साहस भरता है चढ़कर गिरना, गिर कर चढ़ना न अखरता है आखिर उसकी मेहनत बेकार नहीं होती कोशिश करने वालों की…

Best Hindi Kavita Beta Beti Son and Daughter Short Poems

Beta – Beti ~ Best Hindi Kavita

बेटा अंश है तो बेटी वंश है! बेटा आन है तो बेटी शान है! बेटा तन है तो बेटी मन है! बेटा मान है तो बेटी स्वाभिमान है! बेटा संस्कार है तो बेटी संस्कृति है! बेटा आग है तो बेटी बाग़ है! बेटा शब्द है तो बेटी अर्थ है! बेटा गीत है तो बेटी संगीत…