एडिक्शन बना पार्ट ऑफ द लाइफ

जब कोई इंसान शराब, सिगरेट, तंबाकू का सेवन करता है। तो उसे नशेड़ी या नशा करने वाला कहा जाता है क्योंकि यह सब चीजें हमारे स्वास्थ्य के साथ-साथ जिंदगी को भी बर्बाद कर देती है। इसके सेवन से कैंसर, हार्ट प्रॉब्लम और फेफड़ों में दिक्कत जैसी बहुत सारी बीमारियां लग जाती है। नशा मुक्त करने के लिए बहुत सारे प्रयास या नशा मुक्त केंद्र का सहारा लेना पड़ता है। पर क्या हमने कभी सोचा है! आजकल हम सब बच्चों से लेकर बूढ़े, नौजवान लड़की, लड़का और औरत -पुरुष हर वर्ग के लोग नशा कर रहे है, जिसमें किसी एक उम्र का होना अनिवार्य नहीं है।

आइए जानते हैं उस नशे के बारे में जिसके लिए हम Up-to-date रहते है।
जो हमारे लिए Part of life बन गया है।

  • एक ऐसा नशा जिसने अपनों को तो दूर कर दिया है, पर बेगानों और अनजान लोगों को अपना बना दिया है।
  • एक ऐसा नशा जिसमें इंसान अपनी संस्कृति को बुलाकर दूसरे संस्कृति को अपनाने में गर्व महसूस करता है।
  • एक ऐसा नशा जिस की लत से हम नमस्कार और प्रणाम शब्दों की जगह Hi, Hello बोलने लग गए है।
  • एक ऐसा नशा जिसमें गुरु शिष्य भी As a Friend हो कर बात कर रहे है।
  • एक ऐसा नशा जिसमें किसी की आशीर्वाद और शाबाशी से अच्छा LIKES या Comment बेहतरीन लगने लगा है।
  • एक ऐसा नशा जिसमें हम Indoor और Outdoor गेम को खेलने के बजाय Thumb click पर गेम खेलने लग गए है।
  • एक ऐसा नशा जिसने स्वास्थ्य के साथ-साथ रिश्तो में भी अनबन पैदा कर दी है।
  • एक ऐसा नशा जिसमें किसी का घर आए मेहमान का इंतजार नहीं बस Msg, Ringtone बजने की beeptune का इंतजार होने लगा है।
  • एक ऐसा नशा जिसमें हम जाति धर्म का भेदभाव ना करके भी बात कर रहे हैं और एक दूसरे से मेलजोल रख रहे है।
  • एक ऐसा नशा जिस से आंखों की बीमारी और दिमागी बीमारियां लग गई है।
  • एक ऐसा नशा जिसे पुरुषों से ज्यादा महिलाएं कर रही है।
  • एक ऐसा नशा जिसके के लिए कोई नशा मुक्त केंद्र नहीं बना।
  • एक ऐसा नशा जिसे लोग कंपनी और ब्रांड के हिसाब से खरीदते है।
  • एक ऐसा नशा है जिसे लोग My-life, My-soul का Tag देने लगे है।

वह नशा किसी और चीज का नहीं, स्मार्टफोन्स का है। जी हाँ, आजकल हम सब इस स्मार्टफोन को इतना इस्तेमाल करते है कि वह एक addiction बन गया है। सोते, उठते खाते-पीते एवं पूजा पाठ से लेकर किसी धर्म कर्म के कामों में भी हम स्मार्टफोन का ही उपयोग करते है। स्मार्टफोन के बिना जैसे कि जीवन शैली चल ही नहीं रही है।

उदाहरण के तौर पर; एक व्यक्ति जो शराब पीता हो वह कहीं पर भी गिरा पड़ा मिलता है उसी तरह हम सभी स्मार्टफोन को यूज करते समय ऐसे घर के किसी भी कोने पर बैठे पड़े मिलते है। स्मार्टफोन का इस्तेमाल रिश्तो में दूरी को पास करने का या सुख-दुख के संदेश को महीनों की जगह कुछ चंद मिनटों में पहुंचाने के लिए था। परन्तु यहां तो इसका Overuse करने से, कहा जाए कि गलत ढंग से प्रयोग करने से आपसी रिश्तो के साथ-साथ इंसान खुद से भी दूर हो गया है।

किसी भी चीज का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करना ही नशा होता है।
फिर चाहे वह शराब का नशा हो या पढ़ने का नशा हो या स्मार्ट फोन यूज़ करने का।
आप सभी ये सोचिएगा जरूर कि आजकल नशा कौन ज्यादा कर रहा है…..।

थैंक्यू

Prerna Sharma Ludhiana
लेखिका :-  प्रेरणा शर्मा
Sonakaktwan1733@gmail.com
Fashion Designer, Ludhiana


About Auther:

We provide Love, Friendship, Inspiration, Poems, Shayari, SMS, Wallpapers, Image Quotes in Hindi and English. if you have this type of content you can email us at anmolvachan.in@gmail.com to get publish here.



Click here to Follow on Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × 3 =

Top