वो बचपन कीअमीरी न जाने कहां खो गई!!

Bachpan Ke Din Childhood Days Quotes in Hindi
Bachpan Ke Din Childhood Days Quotes in Hindi

वो बचपन कीअमीरी न जाने कहां खो गई
जब पानी में हमारे भी जहाज चलते थे…

Wo Bachpan Ki Amiri Na Jane
Kahan Kho Gai Jab Pani Mein
Humare Bhi Jahaz Chalte They!

वो क्‍या दिन थे…
मम्‍मी की गोद और पापा के कंधे,
न पैसे की सोच और न लाइफ के फंडे,
न कल की चिंता और न फ्यूचर के सपने,
अब कल की फिकर और अधूरे सपने,
मुड़ कर देखा तो बहुत दूर हैं अपने,
मंजिलों को ढूंडते हम कहॉं खो गए,
न जाने क्‍यूँ हम इतने बड़े हो गए,