Currently browsing:- Kavita Sangrah in Hindi:

Main Umra Batana Nahi Chahti Hun Girl Poem in Hindi

मैं उम्र बताना नहीं चाहती हूँ!!

मैं उम्र बताना नहीं चाहती हूँ, जब भी यह सवाल कोई पूछता है, मैं सोच में पड़ जाती हूँ, बात यह नहीं, कि मैं, उम्र बताना नहीं चाहती हूँ, बात तो यह है, की, मैं हर उम्र के पड़ाव को, फिर से जीना चाहती हूँ, इसलिए जबाब नहीं दे पाती हूँ, मेरे हिसाब से तो…

Sister to Brother Raksha Bandhan Poem in Hindi for Bahen

रूपया पैसा कुछ ना चाहूँ..बोले मेरी राखी है!!

नहीं चाहिए मुझको हिस्सा माँ-बाबा की दौलत में, चाहे वो कुछ भी लिख जाएँ भैया मेरे! वसीयत में!! नहीं चाहिए मुझको झुमका चूड़ी पायल और कंगन, नहीं चाहिए अपनेपन की कीमत पर बेगानापन!! मुझको नश्वेर चीज़ों की दिल से कोई दरकार नहीं, संबंधों की कीमत पर कोई सुविधा स्वीकार नहीं!! माँ के सारे गहने-कपड़े तुम…

Himmat Karne Walon Ki Motivational Poem in Hindi

Himmat Karne Walon Ki Haar Nahi Hoti!!

हिम्मत करने वालो की हार नहीं होती लहरों से डर कर नैया पार नहीं होती। नन्हीं चींटी जब दाना लेकर चलती है चढ़ती दीवारों पर सौ बार फिसलती है मन का विष्वास रंगों में साहस भरता है चढ़कर गिरना, गिर कर चढ़ना न अखरता है आखिर उसकी मेहनत बेकार नहीं होती कोशिश करने वालों की…

Best Hindi Kavita Beta Beti Son and Daughter Short Poems

Beta – Beti ~ Best Hindi Kavita

बेटा अंश है तो बेटी वंश है! बेटा आन है तो बेटी शान है! बेटा तन है तो बेटी मन है! बेटा मान है तो बेटी स्वाभिमान है! बेटा संस्कार है तो बेटी संस्कृति है! बेटा आग है तो बेटी बाग़ है! बेटा शब्द है तो बेटी अर्थ है! बेटा गीत है तो बेटी संगीत…